Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

उत्तरपूर्वी जिले द्वारा 1113 बूथों पर दिल्लीसरकार के सौतेले व्यवहार के खिलाफ प्रोटेस्ट| MCD| Protest

उत्तर पूर्वी जिले द्वारा 1113 बूथों पर दिल्ली सरकार के सौतेले व्यवहार के खिलाफ और दिल्ली नगर निगम के 13000/- करोड़ रुपये न देने पर हर बूथ पर घनघोर बारिश के बीच प्रोटेस्ट कर मांग की। जिला अध्यक्ष मोहन गोयल की अगुवाही में आज प्लेकार्ड बैनर व हैण्डलीफ़ लेकर निगम के बकाया राशि की मांग करते हुए बूथ स्तर तक प्रदर्शन किया गया। मोहन गोयल ने कहा कि दिल्ली सरकार निगम के 13000/- करोड़ इसलिए नही देना चाहती क्योंकि कि भाजपा शाषित नगर न8गम असफल सिद्ध हो। दिल्ली सरकार का यह षडयंत्र हम कामयाब नही होने देंगे। पिछले दिनों हमारे तीनों मेयरों ने समस्थ निगम पार्षदों के साथ केजरीवाल के घर के बाहर निरंतर बिना छत, भूखे प्यासे लगभग 2 हफ्तों से ज्यादा धरना भी दिया और लगातार केजरीवाल से आग्रह किया परंतु उन्होंने 2 मिनट मिलने का समय तक नही दिया। भारत के संविधान में राज्य सरकारों को वाद्य किया गया है कि वह जानता के टैक्स के पैसों में से निगमों को चलाने के लिए पैसा, हिस्सा दे जो कि राज्य का वित्त आयोग निश्चित करेगा और वित्त आयोग की शिफारिश राज्य सरकार पर बाध्य होगी। परंतु दिल्ली सरकार की नियत में खोट है। दिल्ली सरकार की सालाना 2020-2021 का बजट लगभग 65000/- करोड़ है। निगम को 13000/- करोड़ दिल्ली की लगभग 2 करोड़ जनता की मुख्यतः निम्न मूलभूत आवश्यकताओं के लिए चाहिए। वहीं घोंडा विधान सभा मे विधायक अजय महावर ने भी बिभिन्न बूथों पर जाकर निगम के पैसों के लिए मांग की और कहा कि निगम को तुरंत उनके हक के पैसों को दिल्ली सरकार को आवंटित करना चाहिए क्योंकि 2 लाख कर्मचारियों के वेतन के लिए, 50 हजार सेवानिवृत कर्मचारियों की पेंशन के लिए, लगभग 10 लाख प्राथमिक विद्यालयों की प्राथमिक शिक्षा के लिए व मिड डे मील के लिए, पार्को के रख रखाव के लिए, सफाई व्यवस्था को ठीक करने के लिए व समस्थ निगम की योजनाओं के लिए यह निगम का पैसा निगम को अतिसीग्रह मिलना अतिआवश्यक है। करावल नगर विधानसभा में मोहन सिंह बिष्ट ने भी कहा कि दिल्ली की भ्रष्ठ आम आदमी सरकार पिछले 6 वर्षों से हर साल निगम की आधी रकम भी निगम को नही दे रही है। इसीलिए 13000/- रुपये दिल्ली सरकार पर निगम के बकाया है। आज इस प्रदर्शन में जिले के प्रभारी सत्य नारायण गौतम , वरिष्ठ राजेन्द्र अग्रवाल, अपने अपने विधानसभाओं में संजय त्यागी, गुलाब सिंह राठौर, डॉ यू.के चौधरी, दिनेश धामा, सचिन मावी, अक्षय पुरोहित, बृजेश सिंह, पूनम चौहान, जिला प्रवक्ता दीपक चौहान व विधानसभाओं के प्रभारी व मंडलो के अध्यक्ष मिर्चो के अध्यक्ष समस्थ निगम पार्षद व बूथों के अध्यक्ष सम्मिलित रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: