Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

नई बुकिंग पॉलिसी में ऐलान- डीडीए के पार्कों में नहीं होंगी शादियां, राजनीतिक कार्यक्रम

नई दिल्ली
डीडीए के पार्कों में अब शादियां और राजनीतिक कार्यक्रम नहीं हो सकेंगे। पार्क के अंदर खाना पकाने की इजाजत नहीं होगी हालांकि रेड टु सर्व फूड का इस्तेमाल किया जा सकता है। डीडीए ने अपने पार्कों के लिए बुकिंग पॉलिसी जारी कर दी है जिसमें ऐसे कई प्रावधान किए गए हैं।

डीडीए ने अपने सभी पार्कों को दो कैटेगिरी में बांटा है। ए-कैटेगिरी के पार्क ओपन पार्क एरिया हैं जबकि बी-कैटेगिरी के पार्क में बोट क्लब, एंफिथिएटर आदि की व्यवस्था भी है। पॉलिसी के अनुसार डीडीए के पार्कों को सांस्कृतिक गतिविधियां और पिकनिक आदि के लिए बुक करवाया जा सकता है।

सांस्कृतिक गतिविधियों में म्यूजिक परफॉर्मेंस, प्ले एंड थिएटर, वार्ता, कविता पाठ व काव्य गोष्ठी, डॉक्युमेंट्री स्क्रीनिंग, विभिन्न भाषाओं के कार्यक्रम, आर्ट कॉम्पिटिशन एंड शोज, स्वास्थ्य से जुड़े कार्यक्रम, एग्जीबिशन आदि शामिल हैं। जबकि राजनीतिक कार्यक्रम में और शादियों के लिए इन पार्कों की बुकिंग नहीं होगी। पार्कों की बुकिंग 6 या 12 घंटे के लिए होगी। 

सर्दियों के दौरान बुकिंग का समय सुबह 6 से रात 8 बजे तक और गर्मियों के दौरान सुबह 5 से रात 9 बजे तक होगा। बी-कैटेगिरी के लिए रात 11 बजे तक भी बुकिंग की जा सकती है। एक ही पार्क को हफ्ते में तीन दिन से अधिक समय के लिए बुक नहीं करवाया जा सकता। कार्यक्रम पूरी तरह नो प्लास्टिक जोन को ध्यान में रखकर आयोजित होंगे।

डीडीए से मिली जानकारी के अनुसार ए-कैटेगिरी में 16 पार्क शामिल है जिसमें से दो आस्था कुंज (नेहरू प्लेस) और हौज खास पार्क में पिकनिक हट भी शामिल है। जबकि बी-कैटेगिरी में 9 पार्क शामिल हैं। बुकिंग के समय आयोजक को पूरा प्लान देना होगा। जिसमें कार्यक्रम में शामिल होने वालों की संख्या, टिकट प्लान यदि कोई हो तो, सिक्युरिटी अरेजमेंट्स, गेस्ट पार्किंग प्लान, बुकिंग कब से कब है शामिल हैं।

कैटेगिरी एकड़ 6 घंटे 12 घंटे सिक्योरिटी डिपॉजिट
1 एकड़ तक3000 रुपये प्रति एकड़5000 रुपये प्रति एकड़10000
1-2 एकड़ तक6000 रुपये प्रति एकड़10000 रुपये प्रति एकड़20000
2-3 एकड़ तक9000 प्रति एकड़15000 रुपये प्रति एकड़30000
बी5000 प्रति एकड़10000 रुपये प्रति एकड़30000

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: