Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

उत्तर पूर्वी जिले में महिला मोर्चा द्वारा आयोजित परिचय व पदभार घोषणा बैठक जिला कार्यालय पर आयोजित हुई

उत्तर पूर्वी जिले में महिला मोर्चा द्वारा आयोजित परिचय व पदभार घोषणा बैठक जिला कार्यालय पर आयोजित हुई जिसकी अध्यक्षता महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष सारिका गुप्ता ने की बैठक में जिला अध्यक्ष श्री मोहन गोयल जी व घोंडा विधायक और पूर्व जिला अध्यक्ष श्री अजय महावर जी ने भी अपने अनुभवों को साझा किया। आने वाले महिला मोर्चा के कार्यक्रमों की समीक्षा की व सभी को पार्टी की रीति और नीति से अवगत कराया। महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्षा योगिता सिंह जी का मार्गदर्शन मिला। जिला अध्यक्ष श्री मोहन गोयल जी ने अपने विचारों को साझा करते हुए कहा कि आज जिनकी घोषणा होगी उनको पद की गरिमा के साथ दायित्वों का निर्वाह करके पार्टी को मजबूत करने का योगदान होगा। जो नए है उनको निरंतर सीखने का भी अभ्यास रखना होगा। भारत में महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता आज महिलाएं घर व समाज दोनों को संभालती है राजनीति में भी महिलाओं की भूमिका आज पुरूषो के बराबर है।भारत सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए कई सारी योजनाएँ चलाई जाती हैं। इनमें से कई सारी योजनाएँ रोजगार, कृषि और स्वास्थ्य जैसी चीजों से सम्बंधित होती हैं। इन योजनाओं का गठन भारतीय महिलाओं के परिस्थिति को देखते हुए किया गया है ताकि समाज में उनकी भागीदारी को बढ़ाया जा सके। घोंडा विधायक श्री अजय महावर जी ने कहा कि महिला शशक्तिकरण से देश मजबूत हो रहा है। आज महिला घर को संभालने से लेकर देश संभाल रही है, महिलाएं घर का बजट तो संभालती ही है परंतु आज देश का भी बजट महिला शक्ति ही संभाल रही है, चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो खेल का मैदान हो चाहे राजनीति का क्षेत्र हो आज महिलाओं की भागीदारी हर जगह है। आज 50% से अधिक महिलाएं निगम में भी आरक्षित है क्योंकि आज महिला शशक्त है शक्तिशाली है शिक्षित है और नए मुकामो के लिए प्रयासरत है। आज सभी महिलाएं गर्व से कह सकती है कि वो विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक दल, पार्टी की सदस्य है। ये वो पार्टी है में देश के लिए वलिदान देने वालो युगपुरुष शामिल रहे ये वो पार्टी है जो जनसंघ से लेकर आज तक देशहित सोचती है। जनसंघ के समय से इस पार्टी ने कभी किसी दल से सत्ता के लिए समझौता नही किया। एकात्म मानववाद और अन्त्योदय की परंपरागत परिभाषा को जीवंत कर सभी वर्गों के साथ खड़ी ये भजपा सभी की साथ और सभी का विकास चाहती है और अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ और विकास पहुचाती है। 1980 में भाजपा का गठन हुआ और आज विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश की सबसे बड़ी पार्टी है। भ्रस्टाचार के दलदल में डूबी कांग्रेस और झूठ के गर्व से जन्मी आम आदमी पार्टी का न कोई लक्ष्य है और न कोई विज़न वो सिर्फ देश को भ्रमित करती है और फूट डालो शासन करो डिवाइड एंड रूल जैसे विचारों को समर्थन करती है। इसलिए हमें गर्व होना चाहिए कि हम भाजपा के सदस्य हैं जो सिर्फ देशहित में सोचती है नेशन फर्स्ट, पार्टी सैकेंड एंड सेल्फ लास्ट का नारा ये दर्शाता है कि वतन के लिए भाजपा का एक एक कार्यकर्ता समर्पित है। जिला प्रभारी सत्य नारायण गौतम जी ने सभी महिलाओं को आगामी समय मे समाज मे बेहतर कार्य कर समाज को उत्कृष्ठ बनाने के लिए महिलाओं को प्रेरित किया। व साथ ही अपने इलाके में कोई व्यक्ति हो जिसका वोट न बना हो उसके लिए भी सभी को वोट बनबाने का आग्रह किया। महिला शक्ति द्वारा देश की स्वतंत्रता से पूर्व और स्वतंत्रता के बाद अनेको महिलाओं द्वारा ऐतिहासिक व अभूतपूर्व किये गए समता मूलक कार्यो को बताया व आदि से अंत तक के उनके अभूतपूर्व कार्यों और देश के लिए किए गए उनके योगदानों को साझा किया। योगिता सिंह ने भी कहा कि महिला एंव बाल विकास कल्याण मंत्रालय और भारत सरकार द्वारा भारतीय महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए निम्नलिखित योजनाएँ इस आशा के साथ चलाई जा रही है। महिला सशक्तिकरण का अर्थ महिलाओं के राजनैतिक, सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है। जिससे उन्हें रोजगार, शिक्षा, आर्थिक तरक्की के बराबरी के मौके मिलते है, जिससे वह सामाजिक स्वतंत्रता और तरक्की प्राप्त करे। यह वह तरीका है, जिसके द्वारा महिलाएँ भी पुरुषों की तरह आज कंधे से कंधा मिलाकर चलती है। आज महिलाएं राजनीति में सक्रिय है आज भाजपा की सभी दायित्ववान महिलाएं पार्टी को व पार्टी की विचारधारा को मजबूती प्रदान कर रही है। योजनाएं जिनसे महिला हो रही है मजबूत, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना – महिला हेल्पलाइन योजना – उज्जवला योजना महिला शक्ति केंद्र – पंचायाती राज योजनाओं में महिलाओं के लिए आरक्षण – महिलाओं ने हर कार्य में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना शुरू किया है।
महिलाएँ अपनी जिंदगी से जुड़े फैसले खुद कर रही हैं। सारिका गुप्ता ने भी अपने शब्दों में कहा कि महिलाएँ अपने हक के लिए लड़ने लगी हैं और धीरे धीरे आत्मनिर्भर बनती जा रही हैं।
पुरुष भी अब महिलाओं को समझने लगे हैं, उनके हक भी उन्हें दे रहें हैं।प्रवक्ता दीपक चौहान ने कहा पुरुष अब महिलाओं के फैसलों की इज्जत करने लगे हैं। कहा भी जाता है कि – हक माँगने से नही मिलता छीनना पड़ता है और औरतों ने अपने हक अपनी काबिलियत से और एक जुट होकर मर्दों से हासिल कर लिए हैं। बैठक में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मोनिका पंत जी, श्री राजेन्द्र अग्रवाल जी, जिला महामंत्री संजय त्यागी जी, गुलाब सिंह राठौर जी, डॉ यू.के. चौधरी जी, जिला उपाध्यक्ष सचिन मावी जी, पूनम चौहान जी, जिला प्रवक्ता दीपक चौहान, निगम पार्षद सुषमा मिश्रा जी, योगेंद्र राजौरा जी, महिला मोर्चा महामंत्री, स्वेता कौशिक, रंजना झा, व समस्थ महिला शक्ति उपस्थित रही।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: