Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

तोमरकृषि विधेयकों के माध्यम से किसानों को अपनी फसल की कीमत तय करने का पूरा अधिकार होगा और उससे बेचने के लिए उनके पास विस्तृत बाजार भी होगा-नरेंद्र सिंह तोमरकिसान स्वतंत्र हैं कि वह अपने उत्पाद एमएसपी पर बेचे या फिर खुले बाजार में बेचे, अपनी उपज की कीमत वह खुद तय करेंगे, उन्हें बिचैलियों के चुंगल में नहीं फंसना पड़ेगा-रामवीर सिंह बिधूड़ी

कृषि विधेयकों के पारित होने पर नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चैधरी से मुलाकात कर उनका आभार जतायाकृषि विधेयकों के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी होगी और साथ ही उन्हें भूमि सुरक्षा भी दी गई है-नरेंद्र सिंह

तोमरकृषि विधेयकों के माध्यम से किसानों को अपनी फसल की कीमत तय करने का पूरा अधिकार होगा और उससे बेचने के लिए उनके पास विस्तृत बाजार भी होगा-नरेंद्र सिंह तोमरकिसान स्वतंत्र हैं कि वह अपने उत्पाद एमएसपी पर बेचे या फिर खुले बाजार में बेचे, अपनी उपज की कीमत वह खुद तय करेंगे, उन्हें बिचैलियों के चुंगल में नहीं फंसना पड़ेगा-रामवीर सिंह बिधूड़ी

मोदी सरकार के बीते 6 वर्षों के कार्यकाल में देश में अनाज, दलहन, तिलहन आदि फसलों के उत्पादन में नया कीर्तिमान स्थापित हुआ है और सरकार द्वारा किसानों से अनाज की खरीद के मामले में भी नया रिकॉर्ड कायम हुआ है-रामवीर सिंह बिधूड़ी
नई दिल्ली, 23 सितम्बर। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा किसानों के हित में पारित करवाए गए विधेयक कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन एंव कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 के लिए आज दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री कैलाश चैधरी से मुलाकात कर उनका आभार जताया। इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बागपत से सांसद श्री सत्यपाल सिंह, दिल्ली भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष श्री मुकेश मान एवं दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसानों ने श्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं श्री कैलाश चैधरी का अभिनंदन किया। 
इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि यह देश कृषि प्रधान देश है, जब से देश में मोदी सरकार आई है किसानों के हित में ही फैसले लिए गए। कृषि विधेयकों के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी होगी और साथ ही उन्हें भूमि सुरक्षा भी दी गई। लोकसभा में जब कांग्रेस के नेताओं ने भाषण दिया उन्होंने बिल के किसी भी प्रावधान का विरोध नहीं किया क्योंकि बिल में विरोध करने योग्य कोई प्रावधान था ही नहीं इसलिए उन्होंने झूठ बोलकर जनता को गुमराह करने का प्रयास किया, और जब राज्यसभा में उन्हें लगा कि बहुमत सदस्य बिल के पक्ष में है तो विपक्षी दलों के नेताओं ने संसद में अलोकतांत्रिक कार्रवाई की और उपसभापति महोदय पर हमला किया जिससे पूरे देश ने देखा इसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के अन्नदाता किसान है और उनसे बड़ा उत्पाद कोई नहीं करता लेकिन उन्हें यह अधिकार नहीं था कि वह फसल कहां बेचेंगे, किस कीमत पर और किसी बेचेंगे, उनकी मजबूरी होती थी कि वह मंडी जाकर ही अपने उत्पाद को बेच सकते हैं। लेकिन कृषि विधेयकों के माध्यम से किसानों को अपनी फसल की कीमत तय करने का पूरा अधिकार होगा और उससे बेचने के लिए उनके पास विस्तृत बाजार भी होगा। किसानों को प्राइवेट साहूकारों का कर्जदार नहीं होना पड़े इसलिए पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई जी ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू किया था, जिसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी समयानुसार और किसानों के हितों में लगातार बढ़ाते आ रहे हैं। 
श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि भारत के करोड़ों किसानों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लाने वाले ऐतिहासिक कृषि विधेयकों को संसद की मंजूरी मिलने पर दिल्ली प्रदेश भाजपा और दिल्ली के लाखों किसानों की ओर से माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का हृदय की गहराइयों से धन्यवाद है। अब किसान स्वतंत्र हैं कि वह अपने उत्पाद एमएसपी पर बेचे या फिर खुले बाजार में बेचे, अपनी उपज की कीमत वह खुद तय करेंगे, उन्हें बिचैलियों के चुंगल में नहीं फंसना पड़ेगा। किसान की जमीन उसके पास ही रहेगी और कोई बिक्री या लीज पर या गिरवी रखने की नौबत नहीं आएगी। कृषि उपकरणों व मशीनरी की व्यवस्था फसल की खरीददारों द्वारा की जाएगी और यह खरीददार किसानों को तकनीकी सलाह भी उपलब्ध कराएंगे और फसल के जोखिम की जिम्मेदारी भी लेंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के बीते 6 वर्षों के कार्यकाल में देश में अनाज, दलहन,  तिलहन आदि फसलों के उत्पादन में नया कीर्तिमान स्थापित हुआ है और सरकार द्वारा किसानों से अनाज की खरीद के मामले में भी नया रिकॉर्ड कायम हुआ है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: