Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

35 मरीजों की जान पर बन आई तो दिल्ली पुलिस नेऑक्सीजन सिलेंडर का बंदोबस्त कर हॉस्पिटल पहुंचाया

दिल्ली पुलिस दिल्ली की पुलिस जी हा कोरोना काल में अपनी जान की परवाह किए बिना दिल्ली पुलिस के जवानों ने एक मिसाल कायम की है दरअसल दिल्ली में बढ़ते कोविड के मामलों की रोकथाम के लिए दिल्ली सरकार ने दिल्ली में 2 दिन का वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान किया इस दौरान दिल्ली में हॉस्पिटलों में मरीजों को ऑक्सीजन की भारी किल्लत के मामले सामने आए तो खुद डिप्टी चीफ मिनिस्टर ने ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार से मांग की रविवार को दिल्ली के नांगलोई स्थित मंसाराम हॉस्पिटल मैं भी ऑक्सीजन की भारी कमी हो गई जिससे हॉस्पिटल में मौजूद कोविड के 35 मरीजों की जान पर बन आई हॉस्पिटल के डायरेक्टर मैनेजमेंट स्टाफ ने सभी सप्लायर से ऑक्सीजन की मांग की लेकिन ऑक्सीजन सप्लाई ना मिलने के कारण जब मरीजों की जान पर बन आई तो मंसाराम हॉस्पिटल के डायरेक्टर को आपातकाल में मरीजों की जान बचाने के लिए एक ही रास्ता नजर आया और वह रास्ता था दिल्ली पुलिस दिल की पुलिस कंट्रोल रूम का मनसा राम हॉस्पिटल के डायरेक्टर ने पुलिस को काल करके तुरंत मरीजों की जान बचाने के लिए सहायता मांगी जिसके बाद आउटर डिस्टिक के एडिशनल डीसीपी सुधांशु धामा ने तत्परता के साथ बिना देरी किए एसीपी आशीष के नेतृत्व में निहाल विहार एसएचओ महावीर सिंह की टीम को हॉस्पिटल को ऑक्सीजन उपलब्ध करवाने का जिम्मा सौंपा पुलिस टीम ने मामले की गंभीरता को समझते हुए कई जगह से भागदौड़ जद्दोजेहद संपर्क करने के उपरांत बाद मरीज की जान बचाने के लिए तुरंत 10 ऑक्सीजन सिलेंडर का बंदोबस्त कर मंसाराम हॉस्पिटल पहुंचाया कुछ देर बाद 10 ऑक्सीजन सिलेंडर दोबारा हॉस्पिटल को डिलीवर करवाए पुलिस की इस दरियादिली को देखकर हॉस्पिटल के डायरेक्टर रविंदर डबास ने दिल्ली पुलिस और जिले के डीसीपी सुधांशु धामा समेत पुलिस टीम का धन्यवाद प्रकट किया है साथ ही एक जिम्मेदार न्यूज़ चैनल होने के नाते दिल्ली पुलिस दिल की पुलिस को इस सराहनीय कार्य के लिए दिल से सराहना करते है और सेल्यूट करते हैं। #delhi_police #dil_ki_police #mansa_ram_hospital

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: