Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

भारत में कोरोना से स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है | Lead Delhi

0

यदि लग रहा है की कोरोना मात्र एक हौआ है तो साहब 10 से 20 लाख rupees बेग में रख कर निकल जाए दिल्ली के #hospital की तरफ तब आपको महसोस होगा की कोरोना ने अपना क्या कहर दिल्ली में बरपा रखा है • दिल्ली में जहां #कोरोना के मामले अभी तो 30000 पहुंचने वाले हैं लेकिन बहुत जल्द लाखों में हो सकते हैं. ऐसे में भारत में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक, दिल्ली के सामने एक नया संकट खड़ा दिख रहा है. इलाज के लिए हॉस्पिटलों ने हाथ खड़े करने शुरू कर दिए हैं. अस्पतालों में बेड नहीं होने का हवाला दिया जा रहा है. इलाज और हॉस्पिटल नहीं मिलने से एनसीआर में हाल ही में एक गर्भवती महिला की मौत भी हुई थी • ऐसे कई मामले हैं, जिन्हें कोरोना नहीं है फिर भी उन्हें इलाज नहीं मिल पा रहा और वक्त पर इलाज नहीं मिलने के चलते वो कुछ ही घंटों बाद दम तोड़ रहे हैं. यानी स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर भले ही कई दावे किए जा रहे हों, लेकिन असल में सच्चाई कुछ और है उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के इस बयान से चिंता बढ़ी है कि जुलाई तक दिल्ली में कोरोना मरीज़ों की संख्या साढ़े पांच लाख से अधिक हो सकती है। • रोयटर्ज़ के अनुसार नई दिल्ली में कोरोना वायरस से संबंधित यह ख़बर तब आई है जब लोगों को अपने बीमारों के लिए अस्पतालों में बेड नहीं मिल पा रहे हैं • और वह अस्पतालों और चिकित्सा केन्द्रों के दरवाज़ों पर दम तोड़ रहे हैं। • भारत सरकार ने मार्च में ही लाक डाउन सहित कई प्रकार के क़दम उठाए लेकिन कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में तेज़ी से वृद्धि हो रही है। • देश में कोरोना के मामलों की संख्या में भारी वृद्धि के बावजूद सरकार ने गिरती अर्थ व्यवस्था को संभालने के लिए कारोबार बहाल करने की अनुमति दी है। • भारत में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की संख्या 2 लाख 70 हज़ार के क़रीब हो गई है और जिस रफ़तार से नए केस सामने आ रहे हैं उसे देखते हुए लगता है कि कुछ ही दिनों में भारत ब्रिटेन से भी आगे निकल जाएगा। • सबसे अधिक मामलों की दृष्टि से भारत इस समय दुनिया में पांचवें नंबर पर है। • दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस समय दिल्ली में कोरोना के 29 हज़ार केस हैं और जुलाई के आख़िर तक यह संख्या बढ़कर साढ़े पांच लाख हो सकती है। • उनका कहना था कि उस समय तक हमें अस्पतालों में 80 हज़ार अतिरिक्त बेड की ज़रूरत होगी जबकि वर्तमान समय में हमारे पास 9 हज़ार बेड की सुविधा है। • एक छात्र अंकित गोयल का कहना है कि उनके दादा को पिछले हफ़्ते छह सरकारी अस्पतालों ने भर्ती करने से इंकार कर दिया क्योंकि उनके पास ख़ाली बेड नहीं थे। • अंकित का कहना था कि निजी अस्पतालों में इलाज बहुत महंगा है इसलिए घरवालों ने अदालत का दरवाज़ा खटखटाया था और अदालत ने इसी हफ़्ते सुनवाई करने का फ़ैसला किया था मगर 78 साल के बुज़ुर्ग इससे पहले ही चल बसे। • डराने वाली बात ये है कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट यानी टेस्ट होने पर कोरोना संक्रमित होने की दर भी बढ़ रही है. • आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 3700 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ, इनमें से 1007 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए यानी जितने लोगों ने टेस्ट कराया उनमें से 27 प्रतिशत लोग संक्रमित पाए गए. पिछले हफ्ते की बात करें तो ये पॉजिटिविटी रेट करीब 26 प्रतिशत था • ये आंकड़ा बाकी राज्यों की तुलना में बहुत ज्यादा है, दिल्ली में फिलहाल 12 से 13 दिनों में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही है. दिल्ली में कोरोना के हॉट स्पॉट्स की संख्या भी बढ़कर 183 हो चुकी है. • इस महीने की पहली तारीख को छोड़ दें तो इस महीने दिल्ली में अब तक प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं • अगर संक्रमण की रफ्तार यही रही तो आज से 5 दिन बाद यानी 14 जून तक दिल्ली में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 44 हजार से ज्यादा हो जाएंगे. ये आंकड़ा, 30 जून तक बढ़कर एक लाख होने की आशंका है. #delhi_hospitals #leaddelhi #nidhi_singh #corona #covid19 #treatment_of_corona #corona_in_india #government

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: