Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

18वी नेशनल पैरा पावरलिफ्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन कंटीरवा स्टेडियम बेंगलुरू कर्नाटका में सफलतापूर्वक 20 से 21 मार्च को किया गया

18वी नेशनल पैरा पावरलिफ्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन कंटीरवा स्टेडियम बेंगलुरू कर्नाटका में सफलतापूर्वक 20 से 21 मार्च को किया गया
जिसमें विभिन्न राज्यों से पूरे हिंदुस्तान के दिव्यांग पैरालंपिक खिलाड़ियों ने भाग लिया इसी के साथ दिल्ली के निवासी मिस्टर व्हीलचेयर इंडिया रह चुके गुलफाम अहमद जिन्होंने अपनी पहचान 2008 में पैरा पावर लिफ्टिंग खेल में बनाई अब वह अपने 28 मेडल के साथ ब्राउन मेडल पर पदक दिल्ली का नेतृत्व किया
गुलफाम 2008 से प्यारा पावरलिफ्टिंग खेल रहे हैं इसी के साथ वह मॉडलिंग सोशल वर्क और राइडिंग का शौक भी रखते हैं गुलफाम अहमद ने बताया कि पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया का आयोजन कोरोना जैसी बीमारी के होते हुए सभी दिव्यांगों ने अपने खेल को हारने नहीं दिया और विश्व में हिंदुस्तान की एकता को दिखाया प्रतियोगिता के दौरान पैरालंपिक कमिटी की प्रेसिडेंट अर्जुन अवॉर्डी श्री दीपा मलिक जी वहां पर उपस्थित रहे और सभी खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया दिल्ली के खिलाड़ियों ने 6 मेडल पर अपनी पकड़ बनाई जिसमें 49वर्ग में गुलफाम अहमद ने रजत, राहुल जूनियर 72वर्ग में गोल्ड, गुलशन ने 54 वर्ग में सिल्वर, प्रगया ने 61 वर्ग में गोल्ड, राजकुमारी ने 55वर्ग में गोल्ड के साथ
दिल्ली राज्य को निम्न मेडल दिलाए
दिल्ली पैरालंपिक कमेटी की तरफ से भेजे गए खिलाड़ियों में से गुलफाम अहमद को कई सारे सेलिब्रिटी सोशलिस्ट बड़ी हस्तियों ने उनको सपोर्ट किया और सिंगर एक्ट्रेस अर्पिता बंसल जी, समाज सेवी नीरज गुप्ता और इंडियन जिम के कोच जित्ते बाबा ने गुलफाम अहमद का मनोबल बढ़ाया उनके कोच ने बताया कि गुलफाम बचपन से ही बहुत मेहनती और खेल के प्रति आदर्शवादी रहा है सिर्फ स्वयं है नहीं वह अन्य खिलाड़ियों का मनोबल भी बढ़ाते हैं और उन्हें खेल के प्रति प्रोत्साहित करते रहते है जिससे भारत देश में पैरालंपिक खिलाड़ियों को विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाई जाए

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

Open chat
Need Help?
%d bloggers like this: